अररिया में 11 बजे तक 22 %, भभुआ में 18 फीसदी% और जहानाबाद में 14 % मतदान

पटना, बिहार में लोकसभा की एक और विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए मतदान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सुबह सात बजे शुरू हो गया। अररिया लोकसभा क्षेत्र में सुबह 11 बजे तक 22 फीसदी, भभुआ में 18 फ़ीसदी और जहानाबाद विधानसभा चुनाव में 14 परसेंट ही मतदान हो पाया है।

आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि अररिया में लोकसभा की एक सीट के साथ ही जहानाबाद एवं भभुआ में विधानसभा की एक-एक सीट पर हो रहे उप चुनाव के लिए मतदान शुरू होने से पूर्व ही मतदाताओं की लंबी कतार देखी गई। उप चुनाव को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए अररिया में 2143 तथा जहानाबाद में 357 और भभुआ में 326 मतदान केंद्र बनाये गये हैं।

जहानाबाद में वोटरों को काफी परेशानी हो रही है। पर्ची और वोटर लिस्ट में मिलान नही हो पा रहा है। यह हाल जिले के आदर्श बूथ पर जहानाबाद की है। यहां कुल 5 बूथ है। लेकिन मतदाताओं में उत्साह नही दिख रहा है।

अररिया लोकसभा उपचुनाव को लेकर रविवार सुबह 7 बजे सर वोटिंग शुरू हो गई। सुबह से ही लोगों में खासा उत्साह है। सुबह 11 बजे तक 22 प्रतिशत वोटिंग हो गई थी। जोकीहाट और अररिया विधानसभा क्षेत्र के कुछ बूथों पर बहिष्कार किया गया। अररिया के पटेगना में एक बूथ पर मशीन खराब थी। सुबह से नरपतगंज और फारबिसगंज विधानसभा क्षेत्र में अधिक भीड़ रही। सड़को पर सन्नाटा है। महिलाओं में अच्छा उत्साह है।

जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 80, 81, व 82 पर असामाजिकतत्त्वों द्वारा अशान्ति फैलाने का प्रयास किया गया। हालांकि प्रशासन की मुस्तेदी के बाद बूथ पर शांति हुई बहाल। वहीँ कुसियार गांव के मतदान केंद्र 37 व 37 अ पर वोट का किया जा रहा है बहिस्कार ।

भभुआ में हो रहे विधानसभा उपचुनाव में रविवार को मतदान करने का समय सुबह सात बजे निर्धारित था। लेकिन, कुछ बूथों पर कर्मी समय से नहीं पहुंचे थे, तो कुछ जगहों की ईवीएम में खराबी आ गई। ऐसे बूथों पर विलंब से मतदान शुरू हुआ। सुबह में मतदान की गति काफी धीमी थी। लोग अपने बूथों पर मतदान करने जाने के बजाए रोजमर्रा की चीजों की खरीदारी करने में व्यस्त दिखे। यहां चर्चा है कि अगर मतदान की गति इसी स्थिति में रही, तो संभवत: 50 फीसदी से ज्यादा वोट नहीं पड़ सकेंगे।

भभुआ के बारे गांव के बूथ को आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया है। लेकिन, यहां की हालत यह है कि यहां की दोनों ईवीएम खराब पड़ी है और मतदाता उसके इंतजार में अपने घर लौट रहे हैं। कुछ इसी तरह की स्थिति भभुआ शहर के बूथ संख्या 127 ए पर देखी गई। महिला मतदाता वोट देने के इंतजार में बरामदे में बैठी रहीं। रामपुर प्रखंड के गम्हरिया व सबार बूथ के भी ईवीएम में खराबी आने से 8:30 बजे तक वहां मतदान शुरू नहीं हुआ था। ऐसी स्थिति कई बूथों पर देखी गई।

रामपुर प्रखंड के नक्सल प्रभावित बूथों पर पारा मिलिट्री फोर्स तैनात थी। मैदानी इलाकों के बूथों पर भी दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी के साथ जवान तैनात दिखे। प्रथम चरण में बूथों पर पेयजल का प्रबंध देखा गया। रैम्प भी बनाए गए हैं। दिव्यांगों के लिए चिन्हित बूथों पर व्हील चेयर का प्रबंध किया गया था। अधिकारियों की टीम बूथों पर जाकर सुरक्षा व विधि-व्यवस्था का जायजा ले रही है।

महागठबंधन टूटने के बाद बिहार की राजनीति में ये चुनाव बेहद निर्णायक माने जा रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद नेता तेजस्वी की यह बड़ी परीक्षा भी है।

अररिया में लोकसभा की एक सीट के साथ ही जहानाबाद एवं भभुआ में विधानसभा की एक-एक सीट पर हो रहे उप चुनाव के लिए मतदान शुरू होने से पूर्व ही मतदाताओं की लंबी कतार देखी गई। उप चुनाव को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए अररिया में 2143 तथा जहानाबाद में 357 और भभुआ में 326 मतदान केंद्र बनाये गये हैं।

वहीं, निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए 281 पर्यवेक्षक नियुक्त किये गये है। सभी मतदान केंद्रों पर वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) के माध्यम से चुनाव कराया जा रहा है। मतदाता शाम पांच बजे तक अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। अररिया सीट के लिए 1737471, भभुआ सीट के लिए 258789 और जहानाबाद सीट के लिए कुल 2861०5 मतदाता चुनावी अखाड़े में उतरे कुल 38 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। मतगणना 14 मार्च को होगी।

अररिया लोकसभा सीट पर कुल सात उम्मीदवारों के बीच जोर आजमाइश है लेकिन मुख्य मुकाबला पूर्व सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के पुत्र और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की टिकट पर चुनाव लड़ रहे मोहम्मद सरफराज आलम और भारतीय जनता पाटीर् (भाजपा) के प्रदीप सिंह के बीच है। जोकीहाट से जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के विधायक रहे मो. आलम हाल ही में राजद में शामिल हुये हैं। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मोहम्मद तस्लीमुद्दीन ने भाजपा के प्रदीप सिंह को हराया था। मो. तस्लीमुद्दीन का निधन हो जाने के कारण अररिया लोकसभा सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है।

वहीं, राजद विधायक रहे मुंद्रिका सिंह यादव के निधन के कारण रिक्त हुई जहानाबाद विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के दंगल में यादव के पुत्र सुदय यादव और जनता दल यूनाईटेड (जदयू) प्रत्याशी अभिराम शमार् आमने-सामने हैं। श्री सुदय यादव राजद की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि पहले उप चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर चुके जदयू ने बाद में भाजपा के आग्रह पर श्री शमार् को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस सीट पर तीन महिला समेत कुल 14 उम्मीदवार मैदान में हैं।

भभुआ विधानसभा सीट पर सीधा मुकाबला भाजपा प्रत्याशी रिंकी पांडेय और कांग्रेस के शंभू सिंह पटेल के बीच है जबकि तीन महिला समेत कुल 17 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमाने के लिए मैदान में हैं। श्रीमती पांडेय के पति और भाजपा विधायक रहे आनंद भूषण पांडेय के निधन के कारण यह सीट खाली हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *