कमलेश तिवारी हत्याकांड में मुख्य आरोपी मुइनुद्दीन और अशफाक पर ढाई लाख के ईनाम की घोषणा

लखनऊ, कमलेश तिवारी हत्याकांड में उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से आज सोमवार को हत्या के मुख्य आरोपी मुइनुद्दीन और अशफाक पर ढाई लाख के ईनाम की घोषणा की गई है।

सूरत के रहने वाले इन दोनों आरोपियों के बारे में पुलिस ने लखनऊ के लालबाग स्थित होटल खालसा इन जानकारियां जुटाईं थी। होटल में दोनों आरोपियों ने आईडी के तौर पर अपना आधार कार्ड दिया था। आधार कार्ड से हत्यारों की पहचान सूरत निवासी शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद के रूप में हुई थी। इससे पहले पुलिस जांच में तेजी दिखाते हुए कई खुलासे कर चुकी है।

हत्याकांड का खुलासा करते हुए यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने बताया था कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पूरी कोशिश की जा रही है।

बताते चलें कि शनिवार रात को होटल प्रबन्धन से सूचना मिलने पर लखनऊ पुलिस ने इस होटल को खंगाला था। हत्यारों जिस कमरे (जी-103) में रुके थे वहां से खून से सने भगवा कपड़े, हत्या में इस्तेमाल चाकू और बैग बरामद हुआ था। इसके अलावा शेविंग क्रीम, ब्लेड समेत कई और चीजें भी मिली। हत्यारों ने 17 अक्टूबर की रात रिसेप्सन पर मौजूद मैनेजर से 1300 रुपये प्रतिदिन किराये पर कमरा तय किया था। एक हजार रुपये एडवान्स दिये थे और रात में रोटी-सब्जी मंगवा कर खायी थी।

दूसरे दिन भगवा वेश में निकलने के बाद जब लौटे तो आनन फानन कपड़े बदल कर फिर निकले गए थे। दोनों ने होटल से ‘चेक आउट’ नहीं किया था। 18 अक्तूबर को दोपहर 1:37 पर निकलते समय रिसेस्पशन पर मौजूद महिला कर्मचारी को चाभी देकर दोनों ने यह कहा था कि कुछ देर बाद आयेंगे। शुक्रवार रात और शनिवार को दिनभर जब ये नहीं लौटे तो होटल कर्मचारियों को शक हुआ। हत्यारों की फोटो भी वायरल हो चुकी थी।

इन फोटो को जब होटल मैनेजर ने देखा तो उन्हें शक हुआ कि कहीं अचानक गायब हुए दोनों युवक हत्यारे ही तो नहीं थे। इस पर एएसपी पश्चिम विकास चन्द्र त्रिपाठी को होटल मालिक हेमराज ने सूचना दी। शनिवार रात को पुलिस मौके पर पहुंची तो कमरा खोला गया। पुलिस के मुताबिक कमरे में भगवा व लाल रंग का कुर्ता मिला। इसमें खून लगा हुआ था। फोल्ड होने वाला थोड़ा लम्बा चाकू भी मिला। इस पर खून के निशान थे। साथ ही खून लगा तौलिया, जियो मोबाइल का नया डिब्बा, लोअर, बैग, चश्मा का डिब्बा, सेविंग किट मिली। इस कमरे को पुलिस ने सील करा दिया है। फोरेंसिक विशेषज्ञों ने होटल के कमरे से कई साक्ष्य जुटाये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *