कांग्रेस प्रत्याशी कीर्ति आजाद का धनबाद पहुंचते ही विरोध शुरू

धनबाद, कांग्रेस प्रत्याशी कीर्ति आजाद का धनबाद पहुंचते ही विरोध भी शुरू हो गया। पार्टी के लोगों ने ही काले झंडे दिखाए। कीर्ति आजाद वापस जाओ, बाहरी उम्मीदवार नहीं चलेगा जैसे नारे लगाए। प्रदेश अध्यक्ष को भी नहीं छोड़ा उनके लिए हाय-हाय के नारे लगाए गए। सबकुछ पार्टी जिलाध्यक्ष, जोनल को-ऑर्डिनेटर अशोक चौधरी व वरीय नेताओं की मौजूदगी में हुआ।

पार्टी ने इसे गंभीरता से लिया और जिलाध्यक्ष ने पांच लोगों को छह साल के लिए पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। विरोध करने वाले सभी पूर्व सांसद चंद्रशेखर दुबे के समर्थक बताए जाते हैं।

पहले झरिया के बनियाहीर तथा भगतडीह के पास कीर्ति आजाद की मुखालफत की गई। फिर धनबाद में भी विरोध किया गया। विरोध करने वाले पार्टी के जिला संगठन सचिव गोपाल धारी के साथ स्थानीय होटल में चल रहे संवाददाता सम्मेलन में पहुंचे। प्रेस कॉन्फ्रेंस खत्म होते ही नारेबाजी करने लगे। हाथ में काला कपड़ा लिए कांग्रेसियों के इस कारनामे को देख कर तो एक बार कांग्रेसी सन्न रह गए। बाद में कुछ कांग्रेसियों ने नारेबाजी करनेवालों का विरोध शुरू किया और सभी को होटल के प्रवेश द्वार के बाहर तक खदेड़ दिया। विरोध करने वाले इस पर भी नहीं माने और सड़क के किनारे ही नारे लगाते रहे। यह सिलसिला आधे घंटे से अधिक चला।

प्रत्याशी के खिलाफ नारेबाजी तथा हंगामा करने के आरोप में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह ने पांच कांग्रेसियों को पार्टी से छह साल के लिए निकाल दिया। उन्होंने कहा कि अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। केंद्रीय नेतृत्व ने कीर्ति आजाद को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी एकजुट होकर उनके लिए काम करेगी।

कौन-कौन निकाले गए पार्टी से :- जिला संगठन सचिव गोपाल धारी, जीतेश धर दुबे, मनोज पांडेय, अशोक चौहान, करण दूबे।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि विरोध-प्रदर्शन की रिपोर्ट प्रदेश कमेटी को भी भेजी जाएगी। घटना की जानकारी प्रदेश अध्यक्ष को फोन से दे दी गई है। पांचों कांग्रेसियों को पार्टी से निकालने की सूचना भी प्रदेश अध्यक्ष को दी गई है। पूछे जाने कहा कि अगर विरोध करने वाले के पीछे किसी बड़े कांग्रेसी का हाथ होगा तो उस पर भी कार्रवाई होगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह महज एक घटना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *