कांग्रेस से मोहभंग नहीं हुआ है, लेकिन पार्टी की मौजूदा परिस्थिति की समीक्षा होनी चाहिए – सलमान खुर्शीद

नई दिल्ली, पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपने बयान पर आज फिर कहा कि उनका कांग्रेस से मोहभंग नहीं हुआ है, लेकिन पार्टी की मौजूदा परिस्थिति की समीक्षा होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि पार्टी का मौजूदा हाल देखेत हुए उन्हें बहुत दुख होता है और पार्टी की फिक्र भी है। लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता मैं पार्टी से नाता नहीं तोड़ूंगा। मैं उन लोगों की तरह नहीं जिन्हें पार्टी से सब कुछ मिला और जब चीजें मुश्किल हुईं तो वे पार्टी छोड़ कर चले गए।

कांग्रेस नेता व पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने मंगलवार को कहा था कि लोकसभा चुनावों में हार के बाद पार्टी अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी के कदम ने सभी को सकते में छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस की हार का विश्लेषण नहीं कर पाए कि हमारे हारने का कारण क्या रहा। हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता दूर चले गए हैं।

खुर्शीद ने कहा कि यह एक नाजुक स्थिति है राहुल के पद छोड़ने के बाद सोनिया गांधी ने जरूर पार्टी की कमान संभाली है लेकिन उन्होंने खुद को रिजर्व कर रखा है। मेरी इच्छा है कि ऐसा न हो।

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के अमेठी में स्मृति ईरानी से हारने और लोकसभा चुनावों में 542 सीटों में सिर्फ 52 सीटें जीत पाने के बाद राहुल गांधी को झटका लगा था और उन्होंने कांग्रेस के अध्यक्ष पद से नाता तोड़ लिया था। कांग्रेस के तमाम नेताओं ने राहुल से आग्रह किया था कि वे अपना इस्तीफा वापस ले लें, लेकिन वे मनाने को तैयार नहीं हुए।

कांग्रेस ने कोई रास्ता न दिखने के बाद सोनिया गांधी को अंतरिम पार्टी अध्यक्ष के रूप में चुना। उन्होंने 1999 में पार्टी अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला ने के बाद कांग्रेस को 2004 और 2009 में जीत दिलाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *