केरल को केंद्र की ओर से तत्काल 100 करोड़ रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान

नई दिल्ली, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल के दो बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद वहां की स्थिति को ‘बहुत गंभीर’ करार देते हुए केंद्र की ओर से तत्काल 100 करोड़ रुपये की सहायता राशि का ऐलान किया।

इडुक्की और एर्नाकुलम जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद उन्होंने अभूतपूर्व बाढ़ के कारण उत्पन्न चुनौतियों से निपटने के लिए केंद्र की ओर से राज्य को हरसंभव मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

गृहमंत्री ने एर्नाकुलम जिले के पारावुर तालुक में एलांतिकारा में एक राहत शिविर में प्रभावित लोगों को संबोधित किया। उन्होंने रविवार को कहा कि मुख्यमंत्री के साथ मैंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया और मैं इस नतीजे पर पहुंचा कि केरल में बाढ़ के कारण स्थिति बहुत गंभीर है।

राज्य सरकार ने गृहमंत्री को एक ज्ञापन देकर राष्ट्रीय आपदा सहायता कोष (एनडीआरएफ) से तत्काल 1220 करोड़ रुपये की मदद मांगी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राथमिक आकलन के मुताबिक, राज्य में वर्षा, बाढ़ और भू-स्खलन से 8316 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। राहत शिविरों में लोगों का

राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में हजारों घर ढह गए हैं, हजारों परिवारों के जीवन भर की जमा-पूंजी और महत्वपूर्ण दस्तावेज बह गए हैं और लोग बेबस स्थिति में राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रविवार को घोषणा की है कि केरल में आई बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए पासपोर्ट केंद्र सरकार मुफ्त में बदलेगी। सुषमा ने ट्वीट किया कि केरल की बाढ़ में भारी नुकसान हुआ है। ऐसे में विदेश मंत्रालय ने तय किया है कि जब हालात सामान्य हो जाएंगे उसके बाद बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए सभी पासपोर्ट मुफ्त में बदले जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *