चुनाव आयोग ने मेनका गांधी व आजम खान पर चुनाव प्रचार करने पर लगाई रोक

लखनऊ, चुनाव आयोग ने केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता मेनका गांधी व रामपुर से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार आजम खान पर चुनाव प्रचार करने को लेकर रोक लगा दी है। आयोग ने मेनका गांधी पर 48 घंटे, जबकि आजम खान पर 72 घंटे तक की पाबंदी लगाई है। यह आदेश मंगलवार सुबह 10 बजे से प्रभावी होगा।

केन्द्रीय मंत्री व सुल्तानपुर से भाजपा उम्मीदवार मेनका गांधी और प्रदेश के पूर्व मंत्री व रामपुर से सपा प्रत्याशी मोहम्मद आजम खां के चुनावी भाषणों पर भी ऐतराज उठाया गया था।

मेनका गांधी ने 11 अप्रैल को सुल्तानपुर लोकसभा सीट की भाजपा प्रत्याशी की हैसियत से चुनावी जनसभा में मुसलमानों से वोट मांगने पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं।

मुख्य चुनाव अधिकारी एल.वेंकटेश्वर लू ने सुल्तानपुर के डीएम से इस बाबत विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी जो 12 अप्रैल को चुनाव आयोग को भेज दी गई थी। इस पर 13 अप्रैल को चुनाव आयोग ने मेनका को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

रामपुर लोस सीट से सपा उम्मीदवार मोहम्मद आजम खां ने भाजपा प्रत्याशी व फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा पर अमर्यादित टिप्प्णी का संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने केन्द्रीय चुनाव आयोग से आजम खां की शिकायत की थी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने रामपुर के डीएम से रविवार 14 अप्रैल को प्रचार के दौरान आजम खां द्वारा जया प्रदा पर की गई कथित अमर्यादित टिप्पणी पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी। प्रदेश के अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ब्रम्हदेव तिवारी ने बताया कि रामपुर के जिलाधिकारी की रिपोर्ट और आजम खां के भाषण की वीडियो रिकॉर्डिंग मिलते ही उसे चुनाव आयोग को भेज दिया गया था, जिसके बाद आयोग ने यह फैसला लिया।

गुरुवार 4 अप्रैल को सम्भल में समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष फिरोज खान द्वारा रामपुर की भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा के खिलाफ आपत्तिजनक बातें कहे जाने पर एफआईआर दर्ज करवायी जा चुकी है। आचार संहिता उल्लंघनचुनाव के दौरान वाहनों, बिना अनुमति मीटिंग, लाउडस्पीकर एवं उत्तेजनात्मक भाषण तथा प्रलोभन आदि के 3135 मामले प्रकाश में आए, जिसमें 900 मामलों में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *