छत्तीसगढ की तर्ज पर झारखंड में भी आदिवासियों की जमीन की रक्षा की जायेगी – राहुल गांधी

सिमडेगा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने झारखंड के सिमडेगा की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में एक साल पहले चुनाव हुआ था और वहां और झारखंड में धन की कमी नहीं है। मगर धन जनता के हाथ में नहीं है। झारखंड में आज जो बीजेपी की सरकार कर रही है और आदिवासियों को कुचलने का काम कर रही है। वैसा ही छत्तीसगढ़ में हो रहा था। कांग्रेस ने एक साल में छत्तीसगढ़ का चेहरा बदल दिया है। किसानों की जमीन छीन ली जाती थी और कोई कारण नहीं दिया जाता था और उनकी जमीन को उद्योगपतियों को दे दी जाती थी। हमने वहां के कई कानूनों को बदले और पहली बार उद्योगपति से जमीन वापस लेकर किसानों को वापस की गई। कांग्रेस भूमि अधिग्रहण बिल लेकर हम आए थे और उस कानून के तहत अगर उद्योगपति ने पांच साल में वहां पर कारोबार शुरू नहीं किया तो वह जमीन वापस किसानों को दे दी जाएगी ।

उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता से वादा किया है कि छत्तीसगढ की तर्ज पर यहां भी आदिवासियों की जमीन की रक्षा की जायेगी। किसानों को फसल की उचित कीमत दी जायेगी।

उन्होंने कहा कि गरीबों को मनरेगा देने पर जोर देकर कहा कि मजदूरों को पैसा देने से ही रोजगार बढ़ेगा, उद्योगपतियों को पैसे देने से बेरोजगारी बढ़ती जायेगी, कम नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता से एलान किया कि अगर आप अपनी जल, जंगल और ज़मीन बचाना चाहते हैं तो आपको कांग्रेस को वोट देना होगा, महागठबंधन को जिताना होगा।

उन्होंने कहा कि जहां भी बीजेपी की सरकार है वहां पर किसानों की जमीन उद्योगपतियों को दे दी जाती है लेकिन किसानों को उनकी फसल की कीमत नहीं दी जाती है। बीजेपी ने कहीं भी किसानों का कर्ज माफ नहीं किया लेकिन जहां भी कांग्रेस की सरकार है वहां किसानों का कर्ज माफ किया गया है।

उन्होंने कहा कि आपको जो डराया जाता है धमकाया जाता है, अगर हमारी गठबंधन की सरकार आएगी तो हम यह नहीं होने देंगे।

उन्होंने कहा कि लोकसभा में हमने न्याय योजना लाने का वादा किया था। अगर ये योजना आती तो देश में कोई भी गरीब नहीं बचता। उन्होंने कहा कि हम लोकसभा चुनाव हार गए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी प्यार से देश को आगे ले जाने वाली पार्टी है। हम धर्म और जाति के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं करते हैं। इस वजह से ही देश चलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *