जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी पर आजम ने कहा कि मैंने न किसी की खूबी बताई और न बुराई

लखनऊ, आजम खां के दिए बेतूके बयान को लेकर उनकी अब सफाई आई है। आजम खां ने कहा है कि मैं बीजेपी के खिलाफ लड़ रहा हूं और बहुत मेहनत कर रहा हूं। मैंने किसी का नाम नहीं लिया। मैंने न किसी की खूबी बताई और बुराई बताई।

वहीं, इससे पहले बीजेपी प्रत्याशी जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी किए जाने में गठबंधन प्रत्याशी आजम खां के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।

आजम खां ने शाहबाद में जनसभा के दौरान पार्टी मुखिया अखिलेश यादव की मौजूदगी पर टिप्पणी की थी, जिस पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट ने रिपोर्ट दर्ज कराई है।

रामपुर में अभिनेत्री और पूर्व सांसद जयाप्रदा भाजपा की प्रत्याशी हैं, जबकि पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां गठबंधन से चुनाव लड़ रहे हैं। रविवार को शाहबाद में पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आए थे, जिन्होंने आजम खां के समर्थन में जनसभा की थी। इसमें आजम खां ने भी भाषण दिया था, जिन्होंने भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा पर निशाना साधा था।

इसी दौरान आजम खां ने जयाप्रदा को लेकर एक अमर्यादित टिप्पणी कर दी, जिसकी चौतरफा निंदा हो रही है। प्रशासन ने भी इसका संज्ञान लिया। प्रशासन की ओर से स्टेटिक मजिस्ट्रेट महेश कुमार गुप्ता ने शाहबाद कोतवाली में आजम खां के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। साथ ही आजम खां के बयान का वीडियो का अवलोकन किया जा रहा है।

रामपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी और पूर्व सांसद जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी की थी। टीवी चैनलों पर बयान प्रसारित होने के बाद महिला आयोग ने स्वत) संज्ञान लेते हुए आजम खां को नोटिस जारी किया है। महिला आयोग ने इस मामले पर तर्कसंगत जवाब देने के निर्देश दिए हैं। जवाब संतोषजनक नहीं पाए जाने पर आजम खां के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है।

महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने चुनाव आयोग से आजम खां के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की भी मांग की है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी आजम खां के बयान की आलोचना की ही है। सुषमा स्वराज ने सोमवार की सुबह ट्वीट कर समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह पर भी टिप्पणी की है। उन्हें पार्टी का भीष्म पितामह बताते हुए लिखा है कि मुलायम भाई, आप समाजवादी पार्टी के पितामह हैं। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं। आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत कीजिए।

जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी देने के मामले में सोशल मीडिया पर आजम खां पर चौतरफा हमला हो रहा है। सोशल मीडिया ट्विटर, फेसबुक और व्हाट्सएप के यूजर्स इस मामले में आजम खां पर कड़ा प्रहार कर रहे हैं। कई उन पर अभद्र टिप्पणी भी कर रहे हैं। भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिजीत मिश्रा ने भी आजम खां पर अमर्यादित टिप्पणी की है।

रामपुर से गठबंधन के प्रत्याशी आजम खां ने जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी के मामले में सफाई पेश की है। मीडिया से सोमवार को बात करते हुए कहा कि वह नौ बार से विधायक हैं और वह अच्छी तरह से जानते हैं कि उन्हें क्या बोलना चाहिए। अगर इस मामले में दोषी साबित होते हैं तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *