दिल्ली राज्य के अंडर -19 फुटबॉल टैलेंट हंट की शुरुआत

नई दिल्ली, ‘ऊर्जा सीएपीएफ अंडर -19 फुटबॉल टैलेंट हंट’ प्रतियोगिता का पहला चरण दिल्ली राज्य के लिए 1 मई से 10 मई तक जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा। खास बात यह है कि इसी तारीख को अन्य राज्यों में भी पहले चरण के मैच आयोजित कराये जायेंगे। दिल्ली राज्य में प्रतियोगिता का आयोजन सीआईएसएफ का नार्थ जोन कर रहा है।

सोमवार को भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान वाइचूंग भूटिया ने यहां आयोजित एक कार्यक्रम में फुटबॉल पर किक लगाकर प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर भूटिया ने प्रतियोगिता में हिस्सा ले रही 16 टीमों की जर्सी का अनावरण भी किया।

इस प्रतियोगिता की जानकारी देने के लिए आयोजित समारोह में सीआईएसएफ की महानिदेशक और आयोजनकर्ता शिखा गोयल ने बताया कि प्रतियोगिता में लड़के और लड़कियों की 8-8 टीमें हिस्सा ले रही हैं। टीमों को दो ग्रुपों में विभाजित किया गया है जिसमें सेमीफाइनल तक मैच लीग स्तर पर होंगे। उसके बाद नॉक आउट आधार पर मैच होंगे। विजेता टीमों में से चुने गये खिलाड़ी आगे की प्रतियोगिताओं में दिल्ली का प्रतिनिधित्व करेंगे।

इस अवसर पर सीआईएसएफ के अतिरिक्त महानिदेशक धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि देश में अक्टूबर में अंडर 17 विश्वकप फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन होने जा रहा है जो एक बड़ी पहल है। मैं उम्मीद करता हूं कि इस टूर्नामेंट के आयोजन से हम फुटबॉल में काफी आगे जाएंगे।

पूर्व कप्तान वाइचूंग भूटिया ने कहा कि यह बहुत ही सही समय है जब हम फुटबॉल को लेकर जागरूकता फैला सकते हैं और लोगों की सोच बदल सकते हैं। हम जितना ज्यादा इसका प्रचार करेंगे उतना ही इसका माता पिता पर असर दिखाई देगा जो अपने बच्चों को फुटबॉल में भेजेंगे।

बता दें कि केन्द्रीय पुलिस बल व असम राइफल्स अखिल भारतीय पुलिस खेल कन्ट्रोल बोर्ड द्वारा संयुक्त रूप से इस प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है। इस प्रतियोगिता में देश भर के प्रत्येक राज्यों से 8 टीमें हिस्सा लेंगी। प्रतियोगिता में दोनों लड़कों व लडकियों के वर्ग में करीब 1200 मैच खेले जायेंगे और 12,500 फुटबाल खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। यह प्रतियोगिता 1 मई से एक साथ भारत के प्रत्येक राज्य व केन्द्र शासित प्रदेशों में शुरू होगी व इसका खिताबी मुकाबला 25 जुलाई, 2017 को नई दिल्ली में खेला जाएगा।

भारत सरकार के खेल मंत्रालय ने इस प्रतियोगिता को राष्ट्रीय प्रतियोगिता का दर्जा दिया है। सरकार के मिशन 11 मिलियन योजना के अंतर्गत इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस योजना के तहत फीफा अंडर-17 विश्व कप तक 11 लाख बच्चों तक फुटबॉल को पहुंचाने का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *