दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को 6 महीने की जेल की सजा

नई दिल्ली, दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को चार साल पुराने एक मामले में जबरन घर में घुसने के जुर्म में 6 महीने की जेल की सजा सुनाई गई है। हालांकि, ऊपरी अदालत में अपील के लिए उन्हें हाथों हाथ जमानत भी मिल गई।

जानकारी के अनुसार, दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को 2015 के बहुचर्चित मामले के मामले में 6 महीने जेल की सजा सुनाई है।

गोयल पर आरोप था कि उन्होंने अपने समर्थकों के साथ दिल्ली विधानसभा चुनाव से एक दिन पहले 6 फरवरी 2015 को विवेक विहार में एक स्थानीय बिल्डर मनीष घई के घर पर कथित तौर पर छापा मारा था।

सजा सुनाए जाने के बाद विधानसभा अधयक्ष रामनिवास गोयल ने अपना बयान देते हुए कहा कि मैं कोई इस्तीफा नहीं दे रहा हूं। मुझे जमानत मिल गई है। 10 हजार रुपये का बेल बांड भर दिया है। सोमवार को सेशन कोर्ट में अपील करूंगा। मैं कानून की मर्यादा में रहकर काम करता हूं। इसलिए मुझे कोई डर नहीं है। मैं बतौर विधायक और विधानसभा अध्यक्ष अपने पद पर काम करता रहूंगा।

ज्ञात हो कि दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल को पिछले शुक्रवार को ही अदालत ने वर्ष 2015 में पूर्वी दिल्ली कॉलोनी में एक बिल्डर के घर में जबरन घुसने का दोषी ठहराया था। राउज एवेन्यू स्थित अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल की अदालत ने गोयल और चार अन्य आरोपियों को यह कहते हुए दोषी करार दिया था कि उनके खिलाफ यह मामला संदेह के दायरे से बाहर है। अदालत ने इस मामले में सुमित गोयल को मारपीट का दोषी भी पाया था। अदालत ने दोषियों की सजा पर बहस के लिए 18 अक्टूबर की तारीख तय की थी।

शिकायतकर्ता के अनुसार, उनके घर में कुछ मजदूर रह रहे थे। 6 फरवरी 2015 की रात करीब साढ़े नौ बजे गोयल व उनके साथियों ने घर में जबरन प्रवेश किया। मजदूरों ने उन्हें फोन किया। इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया।

आरोपपत्र के मुताबिक, इन लोगों ने इस संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। इतना ही नहीं, मजूदरों ने जब विरोध किया, तो उनके साथ मारपीट की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *