दुष्कर्मी की आयु के मुद्दे पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए – वेंकैया नायडू

नई दिल्ली, राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक की बलात्कार के बाद जलाकर हत्या करने की नृशंस घटना पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए सोमवार को कहा कि देश में ऐसी घटनाओं को केवल कानून से नहीं रोका जा सकता बल्कि इस तरह की समस्याओं का समाधान सभी को राजनीति से ऊपर उठकर एवं मिलकर करना होगा।

उन्होंने कहा कि अगर जघन्य अपराध जारी रहते हैं तो सजा देने के लिए दुष्कर्मी की आयु के मुद्दे पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए।

नायडू ने शून्य काल में कई सदस्यों की ओर से इस मुद्दे को उठाये जाने के बाद अपनी टिप्पणी में कहा कि महिलाओं की सुरक्षा संबंधी मुद्दे और पहलू सभी सदस्यों के सामने हैं जिनके जवाब और समाधान सभी को राजनीति से ऊपर उठकर और मिलकर देना है। उन्होंने कहा कि इस घटनायें किसी एक राज्य से जुड़ी नहीं हैं बल्कि यह पूरे समाज का रोग है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था में खामियां है और पुलिस इंतजामों में कमी है। फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन होने चाहिए। इस तरह के मुद्दों पर फिर गंभीरता से विचार करके इनके समाधान निकालने होंगे।

नायडू ने कहा कि इस तरह के मामलों में राजनीतिक इच्छा शक्ति की जरूरत है। महिला सम्मान की बातें मीडिया, सिनेमा और सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचारित-प्रसारित की जानी चाहिए। सभी राजनीतिक दलों को महिलाओं के सम्मान के लिए जागरुकता फैलानी चाहिए तभी इस तरह की घटनाओं से बचा जा सकता है। अपराधियों पर सामाजिक दबाव हो और नशाखोरी तथा राष्ट्रीय राजमार्गों पर शराब मिलने जैसी बातें हैं, जिन पर सभी संबंधितों को ध्यान देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *