नोटबंदी से सरकार ने जनता को परेशान किया है आप इनकी वोट बंदी कर दो – अखिलेश यादव

लखनऊ, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, रालोद प्रमुख अजित सिंह और बसपा महासचिव सतीश मिश्र ने कहा कि गठबंधन से भाजपा भयभीत हो गई है। चुनाव आयोग ने उसके दवाब में गलत कार्रवाई की है। अखिलेश ने सभा में मौजूद जनसमूह से कहा कि नोटबंदी से सरकार ने जनता को परेशान किया है आप इनकी वोट बंदी कर दो।

बसपा-सपा और रालोद महागठबंधन की चुनावी सभा में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि महागठबंधन की रैलियों में लाखों की भीड़ उमड़ रही है। इससे बहुत लोग घबरा गए हैं।

उन्होंने कहा महागठबंधन नफरत की दीवार को तोड़ने वाला गठबंधन है। तीन दलों का गठबंधन यदि मिलावट है तो 38 से ज्यादा दलों के गठबंधन को क्या नाम दें।

अखिलेश ने बीती रात आई आंधी का जिक्र करते हुए कहा कि तेज हवाएं लोगों का मनोबल नहीं तोड़ सकीं। हरा-नीला-लाल रंग चढ़कर बोल रहा है। पहले चरण से चढ़कर बोला है। जनसभा में उन्होंने चौकादार चोर के नारे भी लगवाए।

उन्होंने कहा कि आगरा संगीतज्ञ तानसेन और शेख सलीम चिश्ती की कर्म भूमि रही है। यह हिन्दू मुस्लिम संस्कृति और हिन्दू मुस्लिम एकता की पहचान है। एक दल नफरत फैला रहा है, खाई पैदा कर रहा है। डराकर और दिमाग लगाकर राजनीति कर रहे हैं लेकिन, गठबंधन दिलों को जोड़कर काम कर रहा है।

मुख्यमंत्री योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि ताजमहल को सूची से हटा दिया। बाद में ताजमहल आकर झाड़ू थामीं। लेकिन, इसके बाद कभी कूड़ा नहीं थमा।

बसपा महासचिव सतीश मिश्र ने पार्टी अध्यक्ष पर कार्रवाई को अनुचित और असंवैधानिक बताया। उन्होंने चुनाव आयोग पर दलित विरोधी मानसिकता का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मायावती सर्व समाज को साथ लेकर चल रही हैं। भाजपा हिन्दू और मुस्लिमों को भड़काने का कार्य कर रही है। चुनाव आयोग में इतनी हिम्मत नहीं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को नोटिस दे।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग की कार्रवाई से मायावती डरी नहीं हैं। बल्कि उसके आरोपों की धज्जियां उड़ा दी हैं।

बसपा अध्यक्ष के भतीजे आकाश आनंद ने कह कि रैली में बुआ नहीं आ पाई हैं। महागठबंधन प्रत्याशियों को जिताकर आयोग को करारा जवाब देने की अपील की।

रैली में रालोद अध्यक्ष चौ. अजित सिंह ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा। मायावती की प्रचार पाबंदी को षडयंत्र बताया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने मायावती को आगरा में रैली करने से रोका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *