पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने अपने सहयोगियों के साथ भाई को मारी थी गोली

सीवान, भाजपा नेता योगेंद्र पांडेय हत्याकांड में गवाही देते हुए मृतक के भाई राधेश्याम पांडेय ने कोर्ट में गवाही दी कि पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने अपने सहयोगियों के साथ उनके भाई को गोली मारी थी। इस मामले में गवाह राधेश्याम पांडेय की गवाही पहले भी हुई है।

हालांकि शुक्रवार को भी राधेश्याम पांडेय की गवाही पूरी नहीं हो सकी है। बचाव पक्ष ने गवाह का जिरह किया और अगली तिथि को राधेश्याम पांडेय से पुनः जिरह करेगा। सेशन कोर्ट में पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन से जुड़े दो मामलों की सुनवाई की गई।

इधर मजिस्ट्रेट विजय कुमार मिश्रा की कोर्ट में पूर्व सांसद से जुड़े तीन मामलों की सुनवाई की गई। आर्म्स एक्ट से जुड़े एक मामले में जिले में पदस्थापित रहे इंस्पेक्टर वेद प्रकाश मेहता, गौरी कुमारी व तत्कालीन कार्यपालक पदाधिकारी सह परिवहन पदाधिकारी मिर्जा आरिफ रजा व दो अन्य गवाहों पर कोर्ट ने गिरफ्तारी के लिए वारंट निर्गत किया। मोबाइल बरामदगी के मामले के गवाह मुफस्सिल थाने के तत्कालीन थानाध्यक्ष रामकुमार सिंह का वेतन बंद करने का कोर्ट ने आदेश दिया।

वेद प्रकाश मेहता वर्तमान में नवगछिया जिले में व गौरी कुमारी आर्थिक अपराध इकाई में पदस्थापित हैं। इधर अभियोजन की तरफ से एसपी को आवेदन देकर जेल के अंदर से रुपया, फाइटर व मोबाइल बरामदगी के मामले में जब्त करने वाले अधिकारी को जब्त सामानों के साथ कोर्ट में आने का निवेदन किया गया। आरोपित पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोर्ट में हाजिर हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *