प्रधानमंत्री मोदी ने अति पिछड़ों का हक मारने के लिए अपनी जाति को पिछड़े में शामिल कर लिया – मायावती

मऊ, बुधवार को बसपा सुप्रीमो मायावती व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री भाषण के दौरान अपनी जातियां बदल रहे हैं। कभी गरीब तो कभी फकीर और कभी पिछड़ी जाति बताते हैं। जबकि सच्चाई है कि वह जन्मजात अगड़े वर्ग के रहे हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो अति पिछड़ों का हक मारने के लिए अपनी जाति को पिछड़े में शामिल कर लिया जो पूरी तरह से फर्जी है। शहर के भुजौटी स्थित सामाजिक परिवर्तन न्याय की रैली में दोनों नेताओं के निशाने पर भाजपा रही।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मुद्दों से ध्यान भटकाना चाहते हैं। किसानों, नौजवानों, रोजगारों सहित बुनियादी सवालों पर बात नहीं करना चाहते। नोटबंदी ने देश को बर्बाद कर दिया। इन मुद्दों पर चर्चा नहीं करते। पांच साल पहले प्रधानमंत्री कहा करते थे कि देश को आगे ले जाना चाहते हैं, लेकिन भाजपा की नीतियों के कारण देश आगे नहीं जा सका। बेरोजगारी बढ़ रही, देश पर कर्ज लगातार बढ़ रहा है। पहले 35 लाख करोड़ बढ़कर अब 70 लाख करोड़ हो गया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा जनता के सामने जवाब दे कि यह कर्ज किसकी जेब में गया। सपा बसपा गठबंधन को पीएम द्वारा बार-बार महामिलावटी कहे जाने को लेकर कहा कि प्रधानमंत्री यह बताये कि उनके साथ 38 दलों का गठबंधन है। ऐसे में महामिलावट वाला दल भाजपा है या फिर सपा बसपा गठबंधन।

अखिलेश यादव ने कहा कि यह सरकार दूसरों को बदनाम करने के लिए कुछ भी करती है। फर्जी मुकदमे लादती है। आरोप लगाया कि भाजपा सरकार में 30 लाख लोगों पर फर्जी मुकदमे लाद दिये गये हैं।

मऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा प्रत्याशी अतुल राय को क्लीन चिट देते हुए कहा कि उनके ऊपर जान बूझकर फर्जी मुकदमा लादा गया है और पुलिस को उनकी गिरफ्तारी के लिए पीछे लगा दिया गया है। लेकिन इस जनसभा में उमड़ी भीड़ ने यह साबित कर दिया है कि बसपा प्रत्याशी को वह जिताकर उसके साथ न्याय करेगी।

मायावती ने कहा कि अतुल को बदनाम करने के लिए एक महिला का सहारा लिया गया है।

गौरतलब है कि एक युवती ने अतुल राय पर बहलाफुसलाकर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। केस दर्ज होने के बाद से अतुल राय फरार हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी की कोशिश में जुटी है। रैली में अतुल राय तो नहीं पहुंचे लेकिन उनकी जगह पत्नी और भाई मंच पर आए और लोगों का अभिवादन किया। अतुल राय की पत्नी ने रोते हुए लोगों से सहयोग मांगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *