बालिका गृह कांड में साइस्ता परवीन समेत सात आरोपितों को भेजा गया दिल्ली

मुजफ्फरपुर, बालिका गृह कांड में शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा में बंद मधु उर्फ साइस्ता परवीन समेत सात आरोपितों को कड़ी सुरखा में शुक्रवार को सप्तक्रांति एक्सप्रेस से दिल्ली भेजा गया। 23 फरवरी को बालिका गृह केस की दिल्ली के साकेत पॉक्सो कोर्ट में नियमित सुनवाई होनी है। कोर्ट ने मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल के अधीक्षक को आरोपितों को सदेह उपस्थित करने का आदेश दिया था।

गुरुवार की रात फोर्स मिलने के बाद जेल प्रशासन ने सातों आरोपित और 12 पुरुष-महिला सिपाही का रेल टिकट स्लीपर बोगी में आनन-फानन में कराया था। हालांकि, टिकट कंफर्म नहीं हो सके। इस कारण सभी को शुक्रवार को जनरल बोगी में सफर करना पड़ा। वहीं सुबह 10.30 बजे से ही आरोपितों के भी परिजन स्टेशन पहुंच गए थे। इसके बाद जनरल बोगी की करीब 21 सीटों पर कब्जा कर लिया।

मालूम हो कि बुधवार की शाम साकेत पॉक्सो कोर्ट ने जेल अधीक्षक को बालिका गृह कांड के आरोपितों की पेशी को लेकर आदेश दिया था। इसके आलोक में प्रभारी जेल अधीक्षक सुनील कुमार मौर्य ने 21 फरवरी को आरोपितों को दिल्ली भेजने के लिए एसएसपी से सुरक्षा बल की मांग की, लेकिन सुरक्षा बल मिलने में काफी विलंब हुआ। गुरुवार की रात करीब पौने आठ बजे सिपाहियों के नाम मिलने पर जेल प्रशासन ने शुक्रवार के लिए सप्तक्रांति सुपरफास्ट का टिकट कटाया।

दिल्ली जाने के दौरान आरोपितों के चेहरे पर तनाव था। आंखों में आंसू भरे थे। परिजनों को देखने के बाद सबकी आंखें छलक गईं। जवानों की मनाही के बावजूद करीब आधा घंटा तक परिजनों ने प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर बातचीत की। इस दौरान कुछ देर के लिए ब्रजेश ठाकुर का बेटा राहुल आनंद भी दिखा। आरोपितों से बात करने की कोशिश की, लेकिन सुरक्षा बल के मना करने पर वह लौट गया।

सूत्रों की मानें तो बालिका गृह केस के दिल्ली ट्रांसफर होने की जानकारी तो सभी आरोपितों को थी। पर उन्हें कब और कैसे दिल्ली जाना है, इसकी जानकारी नहीं थी। शुक्रवार की सुबह करीब नौ बजे सभी को जेल प्रशासन ने बताया कि ट्रेन से दिल्ली जाना है। आरोपितों के परिजनों को भी इसकी जानकारी सुबह में ही दी गई।

इन सात आरोपितों को भेजा गया दिल्ली:
1. साइस्ता परवीन उर्फ मधु
2. रामानुज ठाकुर
3. मो. साहिल उर्फ विक्की
4. दिलीप वर्मा
5. रामाशंकर सिंह उर्फ मास्टर
6. अश्विनी कुमार
7. कृष्णा कुमार राम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *