बिहार में 13 स्थानों पर कैंसर जांच केन्द्र खोले जाएंगे – मंत्री मंगल पांडेय

पटना, बिहार में 13 स्थानों पर कैंसर जांच केन्द्र खोले जाएंगे। स्थल चयन की प्रक्रिया चल रही है। इन केन्द्रों पर मरीज को कैंसर की बीमारी है या नहीं, इसकी जांच की जाएगी। इसके अलावा तीन केंद्रों आईजीआईएमएस, पीएमसीएच और मुजफ्फरपुर में प्रस्तावित कैंसर संस्थान में उपचार कराने की सुविधा मिलेगी। ये बातें स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कही। मंगलवार को पीएमसीएच में कोबाल्ट से सेंकाई की मशीन और नए व्याख्यान भवन का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री ने किया।

उन्होंने कहा कि सहायक प्रोफेसर समेत विशेषज्ञ चिकित्सकों और सामान्य चिकित्सकों की नियुक्ति जल्द की जाएगी। साक्षात्कार की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। पीएमसीएच में कैंसर के मरीजों के लिए शुरू हुई सुविधा पर मंत्री ने कहा कि छह साल बाद फिर से पुराने मशीन को बेहतर करके सेंकाई की सुविधा शुरू की जा रही है। यहां मरीजों का मुफ्त में इलाज होगा। पीएमसीएच में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की कोशिश सरकार लगातार कर रही है।

कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.पीएन पंडित ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से और एक करोड़ की लागत से सेंकाई की सुविधा शुरू करने में सफलता मिली है। यहां कैंसर के मरीजों को थिराट्रॉन-780ई से सेंकाई होगी। जल्द ही ब्रेकीथेरेपी मशीन भी लगाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने 3 करोड़ 40 लाख रुपये आवंटित किये हैं। ब्रेकीथेरेपी मशीन लगने के बाद एमडी की पढ़ाई शुरू की जा सकेगी। वहीं लिनीयर एक्सीलीरेटर मशीन के लिए भी केन्द्रीय योजनाओं के तहत लगभग 39 करोड़ रुपये की राशि का आवंटन हुआ है। इसके लिए स्थल का निरीक्षण और नक्शा तैयार किया जा चुका है।

इस मौके पर प्रचार्य डॉ.एके वर्मा ने कहा कि ब्रेकीथेरेपी की सुविधा शुरू होते हीं एमसीआई को फिर से एमडी कोर्स शुरू करने के लिए पत्र लिखा जाएगा। वर्ष 2008 से यहां एमडी की पढ़ाई बंद है। एकेयू के कुलपति डॉ.एके अग्रवाल, आईजीआईएमएस के निदेशक डॉ.एनआर विश्वास, पीएमसी के प्राचार्य डॉ.अजीत कुमार वर्मा, अधीक्षक डॉ राजीव रंजन प्रसाद, डॉ.संगीता नारायण और डॉ.अमर कांत झा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *