महानंदा एक्सप्रेस स्लीपर कोच की स्प्रिंग टूटने की वजह से …

कानपुर, दिल्ली से अलीपुरद्वार जा रही महानंदा एक्सप्रेस मंगलवार को टीएक्सआर दल की सतर्कता की वजह से कानपुर सेंट्रल पर दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। स्लीपर कोच की स्प्रिंग टूटने की वजह से डिब्बा हिचकोले खाते हुए चल रहा था। चालक के कहने पर टीएक्सआर दल ने देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई। आनन-फानन में कोच को अलग किया गया। इसके चलते ट्रेन सेंट्रल पर ढाई घंटे खड़ी रही।

मंगलवार को महानंदा जैसे ही प्लेटफार्म नंबर पांच पर रुकी तभी चालक दल ने डिब्बों से हिचकोले खाने की बात बताई। चेक किया तो एस-2 कोच के पहियों की स्प्रिंग टूट गई थी। कैरिज एंड वैगन स्टाफ की रिपोर्ट पर कोच को डैमेज घोषित करके इसमें सवार यात्रियों को दूसरे डिब्बों में जाने को कहा गया। वहीं, सीटें न मिलने पर यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया। शाम लगभग पौने छह बजे प्रयागराज की ओर ट्रेन रवाना की जा सकी।

सेंट्रल पर अतिरिक्त स्लीपर कोच न होने की वजह से इसके टिकटधारियों को दूसरे कोचों में तो शिफ्ट किया गया पर उनमें भी वेटिंग थी। इस कारण टिकटधारियों को कंफर्म सीट ही नहीं मिली। यात्रियों से अपील की गई कि यदि वे लोग सफर नहीं करना चाहते हैं तो रिफंड ले लें। हालांकि किसी ने भी रिफंड नहीं लिया। पांच ने जरूर एसी कोचों में पैसा देकर कंफर्म सीट पर सफर किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *