यूपी की राज्यपाल ने छात्र-छात्राओं के बीच शिक्षक बनकर पढ़ाया पाठ

कानपुर, यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने शुक्रवार को थरियांव कस्बे में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में छात्र-छात्राओं के बीच शिक्षक बनकर उन्होंने पाठ पढ़ाया। इस दौरान उन्होंने कुछ सवाल पूछने के साथ ही बच्चों व शिक्षकों को पढ़ाई के टिप्स दिए। राज्यपाल ने यहां पर करीब दो घंटे का समय दिया।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल शुक्रवार की सुबह 9.50 बजे कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय पहुंचीं। जहां उन्होंने बच्चियों से खुशनुमा अंदाज में मुलाकात की। उन्होंने बेटियों को बेहतर शिक्षा के लिए प्रेरित करते हुए आगे बढ़ने की नसीहत दी। उन्होंने छात्र-छात्राओं से बेहतर स्वास्थ्य एवं अच्छी शिक्षा के महत्व को भी बताया। इसके बाद कक्षाओं में जाकर छात्राओं से मुलाकात की। कक्षा छह के कक्षा में छात्रा शिखा, संगीता, वर्षा, राधा व गीता आदि से खानपान के बारे में जानकारी ली और अफसरों को गुणवत्ता परक भोजन-नाश्ता दिए जाने के निर्देश दिए।

कक्षा सात की कक्षा में जाकर राज्यपाल ने छात्रा अनीता, शिवानी, अंकिता, सुस्मिता, जानकी व गुडिया आदि से बातचीत की। इन छात्राओं से राज्यपाल ने विज्ञान के सूत्र पूछे जिसे छात्राओं ने बखूबी जवाब दिया। राज्यपाल ने छात्राओं को बताया कि पानी किस किस रसायनिक तत्व से बना है। वहीं कक्षा आठ की छात्राओं से अंग्रेजी व हिन्दी में पोयम सुनने के बाद उनकी काबिलियत को सराहा।

उन्होंने चन्द्रयान-2 के बारे में भी छात्राओं से सवाल किए। करीब दो घंटे छात्राओं के बीच राज्यपाल आनंदी बेन से शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता पर विस्तार से जानकारी देते हुए इस दिशा में आगे आने के लिए प्रेरित किया। इसके पहले राज्यपाल के स्वागत में छात्राओं ने जागरुकता भरे सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। जिसमें बेटी बचाओ बेटी पढाओ, भ्रूण हत्या समेत लड़का-लड़की में समानता पर कार्यक्रम शामिल रहे।

बेटियों की संख्या बढ़ाने पर जोर देते हुए राज्यपाल ने स्वास्थ्य और पुलिस महकमे को कड़े निर्देश दिए। सीएमओ से कहा कि गर्भवती एवं प्रसूताओं की सेहत की नियमित जांच कराने के साथ ही उन्हें व्यापक दिशा निर्देश दिए जाएं। जिससे वह अपने स्वास्थ्य का बेहतर देखभाल कर सकें। वहीं पुलिस को निर्देश दिए कि गर्भवती महिलाओं के परिवारों पर नजर रखें, खासकर उन परिवारों के जिनके पहले से ही घर में बच्चियां हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *