विकास जरूरी है पर पर्यावरण की कीमत पर नहीं – सुशील मोदी

पटना, बिहार के उप मुख्यमंत्री सह पर्यावरण एवं वन मंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि विकास जरूरी है पर पर्यावरण की कीमत पर नहीं। इसी तरह अगर पृथ्वी गर्म होती रही तो जीवन दूभर हो जाएगा। पृथ्वी रहने लायक नहीं रहेगी। जल्द ही 15 माइक्रोन से कम मोटाई वाले पॉलीथीन और थर्मोकोल आदि के उपयोग पर रोक लगाने का आदेश जारी होगा।

पर्यावरण एवं वन विभाग की ओर से शुक्रवार को बीआईटी मेसरा के सभागार में आयोजित पृथ्वी दिवस समारोह में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जलवायु परिवर्तन एक बड़ी चुनौती है। एक समय पटना का तापमान 35 डिग्री से अधिक नहीं होता था। आज 44 पार हो जाता है। ठंड, गर्मी व बारिश असमान हो रही है। इस साल जुलाई के अंतिम दो-तीन दिनों में अधिक बारिश हो गई। अधिक ठंड के कारण मक्का में दाना नहीं आया। अगर तापमान में ऐसे ही उतार-चढ़ाव जारी रहा तो कृषि प्रधान राज्य होने के कारण बिहार पर उसका अधिक असर होगा।

उन्होंने कहा कि दुनिया के स्तर पर कार्बन उत्सर्जन अधिक हो रहा है। चीन, अमेरिका व यूरोपियन देशों की तुलना में भारत में कार्बन उत्सर्जन कम है। बावजूद केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता है कि कम से कम कार्बन उत्सर्जन हो। कोयले से बिजली खपत में अधिक कार्बन उत्सर्जन होता है। इसे देखते हुए ही 2022 तक कुल खपत का एक तिहाई गैर परम्परागत स्रोतों से बिजली उपयोग का लक्ष्य तय किया गया है। जरूरत इस बात की है कि हम वैश्विक स्तर पर सोचें।

शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने कहा कि सभी स्कूलों में पृथ्वी दिवस समारोह मनाया जा रहा है। इससे बच्चों में जागरूकता आएगी। कार्यक्रम में विधायक अरुण कुमार सिन्हा, प्रधान सचिव त्रिपुरारी शरण, बीआईटी के निदेशक बीके सिंह ने भी विचार रखे।

स्वागत प्रधान मुख्य वन संरक्षक डीके शुक्ला व धन्यवाद ज्ञापन क्षेत्रीय वन संरक्षक पीके गुप्ता ने किया। बीआईटी की छात्राएं अनन्या यादव, समीक्षा, आकांक्षा व प्रिया सुमन ने स्वागत किया। कार्यक्रम में पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के लिए सबों ने 11 सूत्री संकल्प भी लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *