सपने देखना बुरी बात नहीं है, लेकिन लोगों को झूठे सपने दिखाकर ठगना बुरी बात है – प्रियंका गांधी

कुशीनगर, कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की अपनी अंतिम सभा में शुक्रवार को कुशीनगर के पडरौना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर बरसीं। उन्होंने कहा कि एक दिन पहले पीएम मोदी ने कहा कि कई लोग प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं और सपने देखना बुरी बात नहीं है। प्रियंका ने कहा कि वास्तव में सपने देखना बुरी बात नहीं है, लेकिन लोगों को झूठे सपने दिखाकर उनको ठगना और छलना बुरी बात है। वर्ष 2014 के चुनाव में जनता के साथ ऐसा ही किया गया।

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन मिर्जापुर से पडरौना पहुंचीं प्रियंका गांधी ने कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह के साथ रोड शो शुरू किया। सड़क के किनारे खड़े लोगों का अभिवादन करते हुए वह कोतवाली के सामने उस जगह बने मंच पर पहुंचीं, जहां हर चुनाव में आरपीएन सिंह के प्रचार का अंतिम भाषण होता है। माइक संभालते ही प्रियंका ने लोगों से खुद को जोड़ते हुए बिना किसी औपचारिकता के बात शुरू की। उन्होंने कहा कि आज प्रचार के तीन महीने बीत गए। वह भाषण देते-देते थक गई हैं और आप लोग सुनते-सुनते थक गए होंगे। यह सभा उनके इस चुनाव के प्रचार की आखिरी सभा है, इसलिए पडरौना में वह सीधी बात करेंगी।

पडरौना के मुद्दे से ही शुरुआत करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि सौ दिन में मिल चलवाने का पीएम मोदी ने वादा किया था। केन्द्र व प्रदेश में भाजपा की ही सरकारें हैं। तो क्यों पडरौना की चीनी मिल क्यों नहीं चली।

प्रियंका ने कहा कि पांच सालों में 12 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। भ्रष्टाचार मिटाने का वादा किया गया था, लेकिन आप ही बताएं भ्रष्ट कौन है? प्रधानमंत्री मोदी के पास विदेशों में घूमने का समय है, लेकिन जनता के लिए पांच मिनट का समय नहीं है। विदेशों में बिरयानी खाने वाले को लोगों की क्या चिंता होगी? अंग्रेजों के जमाने के जेलर की भूमिका निभाई जा रही है। किसान बीमा के दस हजार करोड़ उद्योगपतियों के जेब में डाल दिए गए। उन्होंने कहा कि दो करोड़ रोजगार देने का वादा कर सत्ता में आए पीएम पांच करोड़ रोजगार घटाकर जा रहे हैं।

प्रियंका ने सवाल किया कि लोगों के खातों में 15-15 लाख रुपये क्यों नहीं आए? किसानों की आय क्यों नहीं बड़ी? सभी का एक ही जवाब कि भाजपा और पीएम मोदी के अंदर कुछ करने की नीयत नहीं थी और इसीलिए नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *