समाज में कानून के प्रति सम्मान और भय खत्म हो रहा है – डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय

पटना, बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने कहा कि हम उस दौर से गुजर रहे हैं जहां समाज में कानून के प्रति सम्मान नहीं है। कानून का भय भी खत्म हो रहा है। इसपर चिंता करने की जरूरत है। हमें ऐसा कुछ करना होगा जिससे आम लोगों में कानून के प्रति सम्मान हो। कानून का सम्मान नहीं करनेवालों के मन में भय पैदा करना होगा। अपराधियों को सजा दिलाकर ही कानून का भय पैदा किया जा सकता है।

वह सोमवार को पुलिस भवन निर्माण निगम सभागार में पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो द्वारा प्रयोजित महिला सुरक्षा पर पुलिस अधिकारियों के पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत के मौके पर बोल रहे थे।

डीजीपी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई कानून बने हैं, पर इससे अपराध नहीं रुक जाता। पढ़ी-लिखी सफल महिलाओं से लेकर अनपढ़ तक अत्याचार का शिकार होती हैं। अत्याचार की मूल वजह पुरुषों की सोच है। महिलाओं को उनके अधिकार के प्रति जागरूक करने के साथ ही पुरुषों के रुख में बदलाव लाना होगा। पुलिस अधिकारियों से कहा कि आप प्रशिक्षण कार्यक्रम में सीखने आते हैं, आप कितना सीखते हैं यह आप पर निर्भर करता है। जानकारी हासिल नहीं करते हैं तो नुकसान पूरे पुलिस संगठन का होता है।

डीजी होमगार्ड सुनील कुमार ने कहा कि पुलिस को अपने काम के साथ मनावीय दृष्टिकोण रखना चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा पुलिस का महत्वपूर्ण दायित्व है। यदि पुलिस की वर्दी पहनकर कोई गलत करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की हिम्मत रखनी होगी।

डीजी ट्रेनिंग आलोक राज ने बताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम सात चरणों में होगा। पहले चरण में पटना और भोजपुर पुलिस के अधिकारी शामिल हैं। पांच दिनों के प्रशिक्षण के दौरान कानून के जानकार, महिला सुरक्षा और उनसे जुड़ीं अपराध की घटनाओं के अनुसंधान की बारीकियों से अवगत कराएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *