सीएनटी-एसपीटी एक्ट संशोधन में बदलव की गुजाईश नहीं – रघुवर दास

गिरिडीह, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को मुधबन में चल रहे भाजपा के प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र को संबोधित किया। दास जब कार्यक्रम से बाहर निकलने लगे तो कुछ पत्रकारों ने उनसे सवाल करना चाहा। उन्होंने बात करने से मना कर दिया। फिर भी पत्रकार नहीं माने और उन्होंने सवाल किया कि सीएनटी-एसपीटी में संशोधन में जो इतना विरोध हो रहा है उसपर आपका क्या कहना है। इस पर दास ने रमायण की एक चौपाई सुनाई। उन्होंने कहा कि रघुकुल रिति सदा चली अायी, प्राण जायी पर वचन न जायी। इस चौपाई के माध्यम से मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में किये गये संशोधन में किसी भी तरह का बदलव की गुजाईश नहीं है। बाबूलाल मरांडी की भाजपा में वापसी की हो रही चर्चा के बारे में पूछे गये सवाल पर दास ने कहा कि अस्तित्वविहिन लोगों के बारे में मैं बात करना भी पसंद नहीं करता।

एक अन्य सवाल के जवाब में दास ने कहा कि कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। उनकी भावनाओं की अनदेखी नहीं हो सकती है। उनकी अपेक्षाए स्वभाविक है। इसपर वे काफी गंभीर है। इसके लिए सभी जिलों के डीसी,एसपी को निर्देश दिये गये है कि जो भी भाजपा कार्यकर्ता लोगों की समस्यायें लेकर आयें तो उसे गंभीरता से लिया जाए और उसका शीघ्र समाधान निकाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *