सीतामढ़ी जेल में बंद एक महिला बंदी के साथ मुजफ्फरपुर में इलाज के दौरान सामूहिक दुष्कर्म

मुजफ्फरपुर, अपहरण के मामले में सीतामढ़ी जेल में बंद एक महिला बंदी के साथ एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में इलाज के दौरान सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश में आया है।

इस मामले में महिला बंदी ने 22 नवंबर को डुमरा थाना में एफआईआर दर्ज करने के लिए आवेदन दिया था जहां से घटनास्थल मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर थाना क्षेत्र के होने कारण आवेदन को अहियापुर भेज दिया गया।

जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी परिमल कुमार ने बताया कि महिला बंदी के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला जिला प्रशासन के संज्ञान में आया है।

डीएम ने मामले की उच्चस्तरीय जांच करने के आदेश दिए हैं।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, न्यायालय के आदेश पर अपहरण कांड में बीते एक साल से सीतामढ़ी मंडल कारा में बंद महिला को 11 नवंबर को इलाज के लिए पुलिस अभिरक्षा में सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से उसकी हालत में सुधार नहीं होने पर 13 नवंबर को एसएकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया। 22 नवंबर को महिला बंद की तबीयत सुधार होने के बाद सीतामढ़ी मंडल कारा में लाया गया। जहां पर महिला बंदी ने 14 नवंबर को इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में उसके साथ दुष्कर्म किए जाने की बात जेलर को बताई। जिसे गंभीरता से लेते हुए जेलर ने डीएम सहित वरीय अधिकारी को सूचना देते हुए एफआईआर के लिए बंदी को डुमरा थाना भेज दिया।

उधर अहियापुर थानाध्यक्षमनोज कुमार सिंह ने बताया कि सीतामढ़ी कारा अधीक्षक के पत्र के आलोक में महिला बंदी के बयान के आधार पर दो के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इसमें शैलेश कुमार एवं छोटेलाल को नामजद किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *