1971 में सेना की सफलता का श्रेय इंदिरा गांधी को तो वर्तमान में प्रधानमंत्री मोदी को क्यों नहीं – राजनाथ सिंह

मथुरा, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को मथुरा से भाजपा की प्रत्याशी हेमामालिनी के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए यहां कहा कि जब 1971 में सेना की सफलता का श्रेय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को दिया जा सकता है तो सर्जिकल व एयर स्ट्राईक के लिए वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्यों नहीं श्रेय दिया जा सकता?

उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस पूछ रही है कि सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय नरेंद्र मोदी को क्यों ? लेकिन जब सन 1971 में इंदिरा गांधी के समय में हमारी सेना ने पाकिस्तान को धूल चटाई थी, तब संसद में अटल बिहारी वाजपेयी ने इंदिरा गांधी की प्रशंसा की थी। इसलिए अगर तब इंदिरा गांधी की जय-जयकार करना वाजिब हो सकता है तो अब मोदी की जय-जयकार गलत कैसे ?

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कहती है कि सत्ता में आए तो राष्ट्रद्रोह का कानून समाप्त कर देंगे और हम कहते हैं यदि सत्ता में आए तो इस कानून को और कड़ा करेंगे, लेकिन दुरुपयोग नहीं होने देंगे।

सिंह ने कहा कि विपक्षी दल मोदी के बारे में अभद्र शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं। वो कहते हैं कि चौकीदार चोर है। जबकि दुनिया जानती है कि ”हमारा चौकीदार प्योर है, दोबारा पीएम बनना श्योर है, समस्याओं के लिए क्योर है, मोदी वन्स मोर है।

गृह मंत्री ने गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि सपा और बसपा ने मन में गांठ होने के बावजूद मोदी को रोकने के लिए गठबंधन कर लिया है। गठबंधन की बैलगाड़ी पर कांग्रेस ने भी सवार होने की कोशिश की। लेकिन मोदी रोको की यह नकारात्मक सोच कभी कामयाब नहीं होगी।

चुनावी सभा में गृहमंत्री के निशाने पर जहां मुख्यतः कांग्रेस पार्टी रही, तो वहीं उन्होंने सपा-बसपा और रालोद गठबंधन पर भी हमला बोला। उन्होंने किसानों तथा गरीबों के लिए भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्यो तथा संकल्प पत्र में प्रस्तावित योजनाओं का हवाला देते हुए पुनः मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने का भरोसा जतलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *