भयभीत व्हाट्सऐप ने अपनी नई डेटा-शेयरिंग पॉलिसी को फिलहाल टाला

नई दिल्ली,                       आलोचना और विरोध का सामना करने के बाद इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप्लीकेशन व्हाट्सऐप ने अपनी नई डेटा-शेयरिंग पॉलिसी को फिलहाल टाल दिया है। WhatsApp ने भारी दबाव के चलते अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल टाल दिया है। ऐसे में अगर यूजर WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को 8 फरवरी तक नहीं मंजूरी देते हैं, तो इसके बावजूद भी WhatsApp अकाउंट बंद नहीं होगा। बता दें कि Facebook ओन्ड मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने 8 फरवरी से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लागू करने वाली थी, जिसे कंपनी ने अगले तीन माह के लिए टाल दिया है। ऐसे में यूजर के पास नई प्राइवेसी पॉलिसी के रिव्यू के लिए 15 मई 2021 तक का वक्त होगा। बता दें कि 15 मई 2021 को WhatsApp का नया बिजनेस ऑप्शन लॉन्च होगा।

Facebook ओन्ड कंपनी के मुताबिक WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूज़र्स में कंफ्यूजन हैं, जिसके चलते इसे स्थगित किया जा रहा है, जिससे यूजर्स को नई प्राइवेसी पॉलिसी को समझने में ज्यादा वक्त मिल सकेगा। WhatsApp नई प्राइवेसी और सिक्योरिटी पॉलिसी की भ्रामक जानकारियों को लेकर हर स्तर पर लोगों को जानकारी पहुंचाना चाहती है। कंपनी ने साफ किया कि 8 फरवरी के बाद भी यूजर का WhatsApp अकाउंट सस्पेंड या डिलीट नहीं होगा।

दरअसल नई पॉलिसी में फेसबुक और इंस्टाग्राम का इंटीग्रेशन ज्यादा था जिसकी वजह से यूजर्स का व्हाट्सऐप डेटा फेसबुक से भी शेयर किया जाता। व्हाट्सऐप पर फेसबुक का पूरा स्वामित्व है। व्हाट्सऐप की इस निजता नीति से परेशान होकर यूजर्स उसकी प्रतिद्वंद्वी ऐप्ल टेलीग्राम और सिग्नल पर शिफ्ट हो रहे थे।

नई शर्तों और नीति को स्वीकार करने के लिए तय 8 फरवरी की अंतिम तारीख को व्हॉट्सएप ने फिलहाल टाल दिया है। व्हाट्सऐप ने कहा है कि वह प्राइवेसी और सुरक्षा को लेकर यूजर्स के बीच फैली भ्रामक जानकारियों को दूर करेगा।

एक ब्लॉगपोस्ट में व्हाट्सऐप की ओर से लिखा गया है, ‘हमें बहुत से लोगों से सुनने को मिला है कि हमारे हालिया अपडेट को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है। इस अपडेट के जरिए हम फेसबुक के साथ पहले से ज्यादा डेटा शेयर नहीं करेंगे।’

इससे पहले भी एक ब्लॉग के जरिए व्हाट्सऐप ने सफाई दी थी कि न तो हम किसी के मेसेज या कॉल देख सकते हैं और न ही फेसबुक।

बता दें कि व्हॉट्सएप ने 4 जनवरी को ‘इन-एप’ अधिसूचना के जरिए नई निजता नीति को घोषित करते हुए अपने यूजर्स को सेवा की शर्तों और गोपनीयता की नीति के बारे में अपडेट देना शुरू किया। व्हॉट्सऐप ने इसमें बताया कि वह कैसे यूजर्स के डेटा को प्रोसेस है और उन्हें फेसबुक के साथ किस तरह से साझा करती है। अपडेट में यह भी कहा गया कि व्हॉट्सऐप की सेवाओं का उपयोग जारी रखने के लिए उपयोक्ताओं को आठ फरवरी, 2021 तक नई शर्तों व नीति से सहमत होना होगा।

कारोबार जगत के कई दिग्गजों सहित बड़ी संख्या में प्रयोगकर्ताओं ने इस कदम को लेकर चिंता जताई है। भारत में व्हॉट्सएप के प्रयोगकर्ताओं की संख्या 40 करोड़ से अधिक है। भारत वैश्विक स्तर पर व्हॉट्सएप के सबसे बड़े बाजारों में से है। व्हॉट्सएप की सेवा और निजता नीति में हालिया बदलाव को लेकर बहस छिड़ी है और कई प्रयोगकर्ता व्हॉट्सएप के प्रतिद्वंद्वी मंचों- टेलीग्राम और सिग्नल पर शिफ्ट होने लगे। एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग ऐप सिग्नल और टेलीग्राम को एप्पल और गूगल के ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल देखने को मिला। इसके उलट, फेसबुक के स्वामित्व वाले व्हॉट्सएप के डाउनलोड में गिरावट देखी जा रही है।

भारत में WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के बाद से ही लोग जमकर Signal ऐप डाउनलोड कर रहे हैं। हालांकि अब दुनियाभर से Signal ऐप के डाउन होने की खबरें आ रही हैं। जिसके चलते लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। साइड स्टेट्स ट्रैकर DownDetector ने भी Signal ऐप के डाउन होने की खबर दी है। रिपोर्ट के मुताबिक अगर आप Signal ऐप से मैसेज भेजते हैं, तो यह डिलीवर नही होगा।

Signal ऐप के डाउन होने की खबर के बारे में शुक्रवार रात 8.30 बजे मालूम चला है। इसके बाद शुक्रवार रात करीब 12 बजे Signal ऐप के सीईओ Aruna Harder ने कंफर्म किया कि Signal ऐप पर भारी ट्रैफिक हो गया है, जिसकी वजह से Signal ऐप अस्थायी तौर पर डाउन हो गया है। उन्होंने कहा कि हम इस समस्या को दुरुस्त करने के लिए तेजी से काम कर रहे हैं और जल्द इसे ठीक कर लिया जाएगा। Harder के मुताबिक हमारी तरफ से नए सर्वर को जोड़ा जा रहे है और हम इस काम में तेजी से दिन-रात लगे हुए हैं। हालांकि काफी तादात में नए यूजर Signal ऐप को साइन-इन कर रहे हैं, जिसके चलते इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। खबर है कि मौजूदा वक्त में कुछ हिस्सों में Signal ऐप के डाउन होने की समस्या को सुधार लिया गया है।

बता दें कि इन दिनों भारत समेत दुनियाभर में Signal ऐप की धूम है। Signal ऐप की कुल ग्रोथ 30 फीसदी है। इसमें से 16 फीसदी हिस्सेदारी अकेले भारत से है। WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी आने के बाद Signal App को भारत में काफी पसंद किया जा रहा है। भारत में सिग्नल ऐप के डाउनलोड की बात करें तो 1 जनवरी 2021 से 7 जनवरी 2021 तक डाउनलोड में 79 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। Sensor Tower की रिपोर्ट के मुताबिक 6 जनवरी 2021 से 10 जनवरी 2021 तक Signal App को पिछले सप्ताह की तुलना में इस हफ्ते दुनिया भर में लगभग 75 लाख बार इंस्टॉल किया गया है, जो कि 4200 प्रतिशत अधिक है।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए