उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे को पार्टी सदस्यता से हटाया

शिवसेना सु्प्रीमो उद्धव ठाकरे ने बड़ी कार्रवाई करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को पार्टी सदस्यता से हटा दिया है। उद्धव ठाकरे ने बयान जारी करते हुए कहा कि शिंदे अब शिवसेना के नेता नहीं है। उन पर पार्टी से बगावत करने का आरोप है।

बता दें कि कल ही महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर करते हुए एकनाथ शिंदे राज्य के मुख्यमंत्री बने। उनके साथ भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने उप मुख्यमंत्री पद संभाला।

उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को एकनाथ शिंदे को पार्टी संगठन में शिवसेना नेता के पद से हटा दिया है। पार्टी द्वारा जारी एक पत्र में, शिवसेना सुप्रीमो ठाकरे उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए शिंदे “पार्टी विरोधी गतिविधियों” में लिप्त रहे हैं और उन्होंने स्वेच्छा से अपनी सदस्यता छोड़ दी है।

उद्धव ठाकरे द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में कहा गया है, “शिवसेना पक्ष प्रमुख के रूप में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए मैं आपको पार्टी संगठन में शिवसेना नेता के पद से हटाता हूं।”

जबकि इससे उलट शिंदे ने दावा किया है कि वह शिवसेना के नेता हैं और ठाकरे खेमा अल्पसंख्यक है, उन्होंने कभी भी खुद को पक्ष प्रमुख (पार्टी प्रमुख) नहीं कहा। उद्धव ठाकरे तकनीकी रूप से अभी भी पार्टी प्रमुख हैं।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए