मोदी और शिवराज जिसे तुम कमजोर समझ रहे हो, वो अल्लाह की नजर में ताकतवर है – असदुद्दीन ओवैसी

भोपाल,                        निकाय चुनाव में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के लिए वोट मांगने मध्यप्रदेश के खंडवा पहुंचे एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्या मंत्री शिवराज  पर जमकर निशाना साधा इतना ही नहीं उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को भी खूब अड़े हाथों लिया। ओवैसी ने रामनवमी पर हुई हिंसा के बाद बुलडोजर की कार्यवाही पर भी सवाल खड़े किए।

अपने भाषण के दौरान ओवैशी ने खरगोन , सेंधवा का जीकर करते हुए वहां हुई बुलडोजर की कार्यवाही पर सवाल खड़े किए। ओवैसी ने कहा कि यहाँ कम्युनल राइट हुआ और हम को बताया गया कि 7 घरों को डिमॉलिस कर दिया गया।

उन्होंने शिवराज पर हमला करते हुए कहा कि मै भाजपा और इस प्रदेश के मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूँ की कौनसे कानून के तहत घर को तोड़ा। वो वो कहते है अवैध निर्माण किया गया।  और अगर अवैध निर्माण की बात है तो मध्यप्रदेश के 80 फीसदी घर अवैध है क्या उनको भी शिवराज तोड़ेंगे। मगर आप मुस्लिम समाज को भाजपा उनको उनकी इज़्ज़त से महरूम करना चाहती हैं। भाजपा मुसलमानों को सामूहिक सजा देने चाहती हैं। आप का  कानून है जो कहता है एक महीने का नोटिस मिलना चाहिए अगर अवैध निर्माण है। मगर नहीं आप अखबार, मीडिया में कह देते हैं कि यहां से पत्थर फेंके गए थे इसलिए हम इस घर को तोड़ देंगे। याद रखो सत्ता कभी इंदिरा गांधी के पास नहीं रही, राजीव गांधी के पास नहीं रही, सत्ता कभी पंडित नेहरू के पास नहीं रही , अटल बिहारी वाजपेयी के पास नहीं रही तो सुन लो मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री मोदी तुम्हारे पास भी हमेशा सत्ता नहीं रहेगी, तुमसे भी सत्ता छीन ली जाएगी। हमेशा ताकत किसी के पास नहीं रहती, पर जब ताकत आपके पास है, तब ताकत के नशे में चूर होकर कमजोरों पर जुल्म करना बहादुरी नहीं है। निकाय चुनाव के चलते एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी इन दिनों मध्यप्रदेश के दौरे पर हैं।

ओवैसी ने कहा कि कमजोरों के घरों को तोड़ना तुम्हारी ताकत नहीं है, बल्कि ये तुम्हारी बुजदिली की निशानी है कि तुम कमजोरों के घर तोड़ रहे हो। हिम्मत है तो जाओ, उन बड़े-बड़े पूंजीपतियों के घरों को तोड़ो, उनकी तो ईंट को भी हाथ नहीं लगा सकते, तुम कमजोरों को देखकर उसके घर को बर्बाद कर रहे हो। मगर याद रखो जिस कमजोर को तुम कमजोर समझ रहे हो, वो अल्लाह की नजर में ताकतवर है।

ओवैसी ने कांग्रेस और कांग्रेस के नेता कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि हम पर एक इल्जाम लगता है, कांग्रेस इल्जाम लगाती है कि मजलिस जहां से चुनाव लड़ती है, वहां से बीजेपी जीत जाती है। आप मुझसे पूछिए मध्य प्रदेश में पार्लियामेंट्री का इलेक्शन हुआ, यहां कांग्रेस क्यों हारी, मेरी वजह से हारी। बताओ कमलनाथ जो फोन कर-कर के अपने चमचों से डराए, कमलनाथ वो डराने के दिन चले गए। अब हम तुमको डराने आए हैं।

ओवैसी ने कहा कि मध्य प्रदेश में भाजपा जीत गई, एमपी के इलेक्शन में ज्यादा सीट उनको आ गई। कमलनाथ का बेटा जीता न। बेटे को जिता दिए, पार्टी को हरा दिए। कमलनाथ तुमने बेटे को जिताया और पार्टी को हराया और जिम्मेदार हो गए ओवैसी। कमलनाथ तुम मिले हुए मोदी से, जब बेटा जीत सकता था तो पार्टी का नुमाइंदा क्यों नहीं जीता। तो कमलनाथ को बुल  जाइए अब इनसे नहीं होने वाला हैं। ओवैसी ने कहा कि मेरे दोस्तों कमलनाथ साहब को भूल जाइए, अब इनसे नहीं होने वाला है। नहीं होगा इनसे। कमलनाथ मुख्यमंत्री बने, 20 कांग्रेसी एमएलए मोदी की गोद में बैठकर चाय पी रहे हैं, और मैं जिम्मेदार हूं। क्या मैंने उनसे कहा था कि आओ गुलाबजामुन खाओ और भाग। सिंधिया भाग गए, मुझसे पूछकर गए थे क्या, या मुझे फोन किया था कि आपकी क्या राय है। कमलनाथ सब भाग रहे, आप भी कब भाग रहे बता दो हमको।  कोंग्रेसी मिले हुए हैं ऊपर जा कर सब एक हो जाते हैं।

ओवैसी ने कहा कि नवजवानों याद रखो तशद्दुद   हमारा रास्ता नहीं हैं। बल्कि सियासी ताकत  हासिल करना वोट डालना अपनी पार्टी के अपने वोट डालना अपनी सियासी लीडरशिप को बना।   नवजवानों तुम वहां खड़े हो वो दिन दूर नहीं है जब तुम खंडवा में मजलिस  करोगे।  तो तब तुम इसी डाइस से हजारों के मजमे से ख़िताब करोगे।

ओवैसी ने मंच कहा कि भाजपा मुसलमानों को हर काम का जिम्मेदार ठहरती हैं।  हर चीज में लेकर मुस्लमान जिम्मेदार है , मुग़ल जिम्मेदार हैं। अरे क्या भारत की हिस्ट्री में क्या सिर्फ मुगलों की हुकूमत थी ? उसे पहले क्या अशोका की हुकूमत नहीं थी। कई कई सरकारे थी लेकिन बेजीपी की आँखों में सिर्फ मुग़ल दीखता है। एक आंख में मुग़ल दूसरी आंख में पाकिस्तान। न हम मुगलों क जानशीन है न हमको पाकिस्तान से कोई मतलब हैं। मगर इनको सब चीज नजर आती है जिन्ना जिन्ना… अरे जिन्ना से हमको क्या करना हैं। हमने जिन्ना के पैगाम को ठुकरा दिया।  आजादी के 75 साल का जश्न हम 15 अगस्त को बनाने जा रहे हैं। तो भारत मे जो 20 करोड़ मुसलमान है वो इस बात की गवाही दे रहे की उनके दादा और परदादा ने पाकिस्तान के पैगाम की ठुकराया था और भारत को अपना वतन ए अजीज बनाया था।  भारत हमारा वतन ए अजीज है हम भारत को नहीं छोड़ेंगे तुम लाख नारे लगा लो छोड़ के जा छोड़ के जा।  छोड़ना तो दूर की बात हम जिन्दा रहेंगे तो इस जमीन पर और मरेंगे तो इस जमीन के अंदर जाएंगे।

ओवैसी ने कहा कि यहां मौजूद हजारों की तादाद में अवाम का होना बताता है कि खंडवा में, मध्य प्रदेश में नया सियासी इंकलाब लिखा जाएगा। ओवैसी ने कहा कि खंडवा में हमारी मजलिस के 11 उम्मीदवार मैदान में हैं। मेयर के लिए भी हमने उम्मीदवार उतारा है।

ओवैसी ने कहा कि किसी कौम के लिए 50 साल लंबा अरसा होता है। आपने 50 सालों से दूसरी पार्टियों का साथ दिया। हमने ज्यादातर कांग्रेस का साथ दिया, ये समझकर कि कांग्रेस हमारे मसले हल करेगी। हमने कांग्रेस को वोट दिया इस उम्मीद में कि हमारे मददगाहों की हिफाजत होगी। हमने दूसरी पार्टियों को वोट दिया कि हमाने बच्चों की तालीम का इंतजाम किया जाएगा।

एआईएमआईएम के महापौर और पार्षद पद प्रत्याशियों के लिए आमसभा में ओवैसी ने कहा कि मेरे दोस्तों मैं कहना चाहता हूं कि याद रखिए इस बात को कि हममें इतनी ताकत नहीं है कि हम किसी पार्टी को सत्ता में आने से रोक सकें, पर हममें इतनी ताकत जरूर है कि हम एक होकर वोट करके अपने नुमांइदों को कामयाब कर सकते हैं, उन्हें मध्य प्रदेश की विधानसभा में भेज सकते हैं। ताकि आपके मसलों की आवाज बुलंद हो सके।

ओवैसी ने कहा कि कल तक मजलिस मध्य प्रदेश में नहीं थी तो आपको वो बूढ़ी कांग्रेस का साथ देना पड़ता था। हमारी पार्टी मध्य प्रदेश में कांग्रेस-बीजेपी नहीं चलने देगी। मुझे लगता है कि मध्य प्रदेश में तीसरे विकल्प का स्कोप है। और हमारी पार्टी प्रदेश में तीसरी ताकत बनकर उभरेगी।

 

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए