मदरसे के बुरे लोगों से कोई सहानुभूति नहीं है, सरकार उन्हें गोली मार दे – बदरुद्दीन अजमल

गुवाहाटी,                    ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने कहा है कि मदरसे के बुरे लोगों से उनकी कोई सहानुभूति नहीं है। उन्होंने कहा कि वे लोग जहां-कहीं भी मिलें, सरकार उन्हें गोली मार दे। बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि अगर मदरसा में 1-2 बुरे टीचर हैं तो सरकार जांच करे और उन्हें हिरासत में ले। जांच पूरी होने पर उन्हें उठाए और जो करना चाहे करे।

बदरुद्दीन अजमल ने कहा, ‘अगर उन लोगों की वजह से पूरे मुस्लिम सुमदाय को जिहादी कहा जाएगा तो यह जिहाद नहीं है, यह आतंकवाद है। सरकार को उन्हें रोकना चाहिए। उन्हें अपनी सीमाओं की रक्षा करनी चाहिए और अपनी खुफिया जानकारी को मजबूत करना चाहिए।’

बदरुद्दीन अजमल ने आम लोगों की पीड़ा के प्रति सरकार की कथित उदासीनता के लिए सत्ताधारी पार्टी के नेताओं की आलोचना की। उन्होंने सबसे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत का पैसा वित्त मंत्री के पास है। उन्हें कैसे पता चलेगा कि एक व्यक्ति कुछ खरीदने के लिए कितना खर्च करता है?

AIUDF प्रमुख ने भगवा पार्टी के मंत्रियों और सांसदों पर कटाक्ष किया कि वे स्पष्ट रूप से इस बात से अनजान थे कि बढ़ती कीमतों से जनता कैसे प्रभावित हो रही है। उन्होंने केंद्रीय मंत्रियों और बीजेपी सांसदों से अपनी पत्नियों से महंगाई के बारे में पूछने के लिए कहा है।

उन्होंने कहा कि किसी भी मंत्री के लिए कोई महंगाई नहीं है। भाजपा सांसदों को अपनी पत्नियों से पूछना चाहिए कि वे रसोई कैसे चला रहे हैं। सरकार को ध्यान देना चाहिए अन्यथा 2024 में महंगाई उनकी सरकार को खा जाएगी।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए