श्रीकांत त्यागी के मकान पर चला योगी का बुलडोजर, 25000 का इनाम घोषित

नोएडा,              नोएडा की एक सोसायटी में महिला से गुंडागर्दी करने वाले श्रीकांत त्यागी पर योगी सरकार ने सख्ती दिखाते हुए सोमवार को सोसायटी में नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी मजदूरों के साथ पहुंचे और श्रीकांत के अवैध निर्माण पर हथौड़ा चलाया गया। इसके बाद तुरंत बुलडोजर भी पहुंच गए और श्रीकांत त्यागी के अवैध निर्माण को ध्वस्त किया। अब तक श्रीकांत की ओर से धमकाई जाती रहीं महिलाओं ने ताली बजाकर इसका स्वागत किया। वहीं, एक दूसरे को मिठाई खिलाकर भी लोगों ने खुशी जाहिर की।

श्रीकांत त्यागी पर नोएडा पुलिस ने 25000 रुपये का इनाम घोषित किया है। त्यागी को गिरफ्तार करने के लिए नोएडा पुलिस की 8 टीमें लगाई गई हैं। कमिश्नरेट गौतमबुद्धनगर के थाना फेस-2 में श्रीकांत त्यागी के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। कमिश्नरेट गौतमबुद्धनगर पुलिस ने फरार त्यागी पर 25000 रुपये का इनाम घोषित किया है।

नोएडा सेक्टर 93 के ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में श्रीकांत त्यागी ने लंबे समय से अवैध निर्माण किया हुआ था।2019 में भी सोसायटी के लोगों ने उसके खिलाफ नोएडा अथॉरिटी से शिकायत की थी, लेकिन अपने राजनीतिक प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए वह बचता रहा है। अब महिला से बदसलूकी और गाली-धमकी देते हुए उसका वीडियो वायरल होने के बाद वह कार्रवाई की जद में आ गया है।

श्रीकांत त्यागी के खिलाफ बुलडोजर का तालियों के साथ स्वागत करने वाली महिलाओं ने कहा, ”बहुत सही ऐक्शन लिया गया है। हमें योगी सरकार से यही उम्मीद थी। ऐक्शन देर से लिया गया, लेकिन सही लिया गया। एक साल से मेंटेनेंस चार्ज नहीं दिया था। हमें बहुत खुशी है कि बुलडोजर बाबा का बुलडोजर चला है। योगी जी सबके लिए एक जैसे हैं। श्रीकांत त्यागी गिरफ्तार नहीं कर पाई है तीन दिन बाद भी। उसे जल्दी गिरफ्तार किया जाए।” सोसायटी में कई लोग मिठाई बांटते नजर आए। एक दूसरे का मुंह मीठा कराया।

श्रीकांत त्यागी अब तक फरार है। पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज किया है। राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) भी लगाए जाने की तैयारी है, लेकिन अब तक वह कानून के शिकंजे से बाहर है। रविवार रात श्रीकांत त्यागी के कुछ समर्थकों ने सोसायटी में जाकर पथराव किया था और निवासियों से मारपीट की थी। इसके बाद खुद बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा सोसायटी में पहुंचे और लखनऊ फोन घुमाकर जल्द ऐक्शन की मांग की। उन्होंने यहां तक कह दिया कि वह यह कहते हुए शर्मिंदगी महसूस कर रहे हैं कि अपनी सरकार है।

आपको बता दें कि सोसाइटी की एक महिला ने सेक्टर-93बी में आवासीय सोसायटी में नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए श्रीकांत त्यागी द्वारा कुछ पेड़ लगाने पर आपत्ति जताई थी, जिसके बाद त्यागी ने महिला के साथ कथित तौर पर अभ्रद व्यवहार किया और उसे धक्का भी दिया था। घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। मामला दर्ज होने के बाद से ही त्यागी फरार है। सोसायटी में बीती शाम से ही भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं। स्थानीय लोगों ने त्यागी को जल्द ही गिरफ्तार करने की मांग की है। इस सोसायटी में 1,000 से अधिक परिवार रहते हैं।

इससे पहले महिला के साथ अभद्रता के मामले में लापरवाही बरतने को लेकर पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने थाना फेस-2 के थानाध्यक्ष सुजीत उपाध्याय को सोमवार को निलंबित कर दिया। उपाध्याय की जगह अब निगरानी प्रकोष्ठ के प्रभारी परमहंस तिवारी को थाना फेज-2 का प्रभारी निरीक्षक बनाया गया है। मामले में आरोपी श्रीकांत त्यागी खुद को भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा का राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य और इसकी युवा समिति का राष्ट्रीय समन्वयक बताया है, जबकि पार्टी ने उससे दूरी बनाए रखी है।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए