स्वतंत्रदेव सिंह ने विधान परिषद में नेता पद से दिया इस्तीफा, केशव प्रसाद मौर्य को मिली जिम्मेदारी

लखनऊ,                    उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और योगी कैबिनेट में मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने विधान परिषद में नेता पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया। दरअसल पार्टी ने उन्हें जल्द ही यह जिम्मेदारी सौंपी थी। वहीं उनके इस्तीफे बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को नए विधान परिषद के नेता के तौर जिम्मेदारी दी गई है। बता दें कि स्वतंत्र देव सिंह ने इससे पहले जुलाई में यूपी प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था।

आपको बता दें कि प्रदेश के जलशक्ति एवं बाढ़ नियंत्रण मंत्री स्वतंत्र देव सिंह विधान परिषद में नेता सदन बनाया गया था। विधान परिषद के सभापति कुंवर मानवेन्द्र सिंह ने 22 मई 2022 से उन्हें नेता सदन के रूप में मान्यता दी थी। इससे पहले डॉ. दिनेश शर्मा उप मुख्यमंत्री के रूप में विधान परिषद में नेता सदन थे।

स्वतंत्र देव सिंह कुर्मी समाज से आते हैं जिसे यूपी में पिछड़ी जाति माना जाता है। स्वतंत्र देव सिंह बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी से साइंस ग्रेजुएट हैं। स्वतंत्र देव सिंह ने 1986 में  एक दैनिक अखबार में बतौर रिपोर्टर अपने करियर की शुरूआत की थी। योगी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी स्वतंत्र देव सिंह को मंत्री बनाया गया था। इससे पहले वो भाजपा में वाइस प्रेसिडेंट और जनरल सेक्रेट्री समेत कई अलग-अलग पदों पर रहे।  साल 2019 में स्वतंत्र देव सिंह को यूपी बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया।फिलहाल, बीजेपी ने अभी तक नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा नहीं की है।

स्वतंत्र देव सिंह का अध्यक्ष पद का कार्यकाल 16 जुलाई को खत्म हो चुका है। इसके कुछ दिन बाद ही आज यानी बुधवार को उन्होंने विधान परिषद में नेता सदन के पद से इस्तीफा दे दिया। स्वतंत्र देव सिंह ने विभागीय कार्यों में व्यस्तता को इस्तीफे की वजह बताया है।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए