बेगूसराय में फिर दो बाइक पर सवार चार अपराधी मटिहानी थाना के सामने से फायरिंग करते हुए निकले

बेगूसराय,                  बिहार में बेगूसराय सीरियल फायरिंग की घटना में गोली चलाने वाले दो अपराधी अब तक पकड़े भी नहीं जा सके हैं कि अपराधियों ने अब एक दूसरे इलाके में उसी तरह की गोलीबारी करके पुलिस के निकम्मेपन को सामने ला दिया है। पुलिस का खौफ मानो बचा ही नहीं है क्योंकि इस वारदात में भी दो बाइक पर सवार चार अपराधी मटिहानी थाना के सामने से फायरिंग करते हुए भाग गए और पुलिस ना उन्हें रोक सकी, ना पीछा कर पकड़ सकी। संयोग बस ये रहा है कि गोलीबारी की इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ।

गोलीबारी की ये घटना बेगूसराय जिला मुख्यालय के पास मटिहानी थाना क्षेत्र में हुई है। मटिहानी थाना से आधा किलोमीटर की दूरी पर खोरमपुर चौक से फायरिंग की घटना शुरू हुई और गोली चलाने वाले वहां से बाइक पर गोली चलाते हुए मेथो चौक की तरफ भाग गए। स्थानीय लोगों के अनुसार अपराधियों ने मटिहानी थाना और सरकारी स्कूल के पास भी चार से पांच राउंड गोली चलाई। इस दौरान स्थानीय लोग अपनी जान बचाने के लिए यहां-वहां छुपते नजर आए।

पुलिस के मुताबिक चार अपराधियों ने लोगों पर गोली चलाई लेकिन कोई घायल नहीं हुआ है। पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है और अपराधियों की धरपकड़ के लिए छापामारी चल रही है। पुलिस ने दावा किया है कि गोली चलाने वालों की पहचान हो गई है लेकिन गोलीबारी का कारण नहीं पता चल पाया है।

बेगूसराय एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि अपराधियों पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश चल रही है। उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों के बयान के आधार पर मटिहानी थाना में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। एसपी ने ये भी बताया कि इस सिलसिले में पूछताछ के लिए पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है।

बेगूसराय में 9 दिन पहले बछवाड़ा थाना से लेकर चकिया थाना क्षेत्र के बीच चार थाना क्षेत्रों में दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने 30 किलोमीटर की दूरी में सड़क पर राह चलते लोगों पर गोलीबारी की थी जिसमें एक की मौत हो गई थी जबकि 11 घायल हुए थे। पुलिस ने उस केस में अब तक एक बाइक पर सवार दो गोली चलाने वालों को और साजिश में शामिल दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस हमले में इस्तेमाल दूसरी बाइक पर सवार दो अपराधी अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए