फर्जी पासपोर्ट मामले में सीबीआई कोर्ट ने डॉन अबू सलेम को सुनाई तीन साल जेल की सजा

लखनऊ,              फर्जी पासपोर्ट मामले में सीबीआई कोर्ट ने अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम को तीन साल जेल की सजा सुनाई है। लखनऊ में सीबीआई की विशेष अदालत ने मंगलवार को इस मामले में अबू सलेम को तीन साल की सजा सुनाई। इस मामले में अबू सलेम के अलावा दूसरे दोषी परवेज आलम को भी सजा सुनाई है। इस दौरान अबू सलेम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुंबई की तलोजा जेल से कोर्ट की कार्रवाई में शामिल हुआ।

जानकारी के मुताबिक अबू सलेम उर्फ अब्दुल कयूम अंसारी पर आरोपी है कि उसने 1993 में अपने साथी परवेज आलम और समीरा जुमानी के साथ मिलकर लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस में अकील अहमद काजमी के नाम से पासपोर्ट बनाने का आवेदन दिया था। अबू सलेम ने आवेदन के साथ जो नाम, पते और दस्तावेज दिए थे वो सब फर्जी थे। आरोप है कि अबू सलेम ने फर्जी पासपोर्ट बनवाकर उसका इस्तेमाल किया। अबू सलेम पर आरोप है कि उसने 6 जुलाई 1993 को फर्जी आईडी के जरिए बनवाया पासपोर्ट लिया। सलेम पर आरोप है कि उसने अपनी कथित पत्नी समीरा जुमानी का भी फर्जी दस्तावेजों के आधार पर फर्जी पासपोर्ट बनवाया।

सीबीआई ने इस मामले में 2009 में चार्जशीट दाखिल की थी।

गौरतलब है कि 1993 मुंबई सीरियल बम धमाके के मुख्य आरोपी अबू सलेम को 2002 में पुर्तगाल से गिरफ्तार कर भारत लाया गया था। इसके बाद से अबू सलेम मुंबई जेल में बंद है।

 

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए