यूपी के बांदा में कूड़ा फेंकने के विवाद में सिपाही के साथ उसकी मां और बहन की हत्या

लखनऊ, यूपी के बांदा में कूड़ा फेंकने के मामूली विवाद में शुक्रवार देर रात सिपाही के साथ उसकी मां और बहन की हत्या कर दी गया। तिहरे हत्याकांड से जिले में हड़कंप मच गया। सूचना पर आईजी, एसपी समेत अन्य अफसर आनन-फानन मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित परिवार के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। 

थाना नैनी प्रयागराज में तैनात सिपाही अभिजीत वर्मा चंद्रोली परशुराम तालाब इलाके में मां रमावती और बहन निशा वर्मा के साथ रहता था। उसके परिवार में एक अन्य भाई सौरभ वर्मा का भी चयन पुलिस में हो चुका है और वह ट्रेनिंग कर रहा है।

अभिजीत के दोस्त दिलीप ने बताया कि रात लगभग 11 बजे अभिजीत का फोन आया था कि बगल में रहने वाले ताऊ के बेटे देवराज और उसके परिवार से झगड़ा हो गया है। दिलीप का घर अभिजीत के घर से 300 मीटर की दूरी पर है। उसके बुलाने पर वह वहां पहुंच गया।

दिलीप ने बताया कि देवराज, उसके भाई शिवपूजन, बबलू और घर की एक महिला समेत पांच छह लोगों ने अभिजीत के घर को घेर रखा था। सभी लाठी, डंडे, कुल्हाड़ी और बंदूकों से लैस थे। आरोपितों ने कई राउंड हवाई फायरिंग भी की। उसके बाद अभिजीत और उसके परिजन बाहर निकले। उनके बाहर आते ही आरोपितों ने हमला कर दिया।

दिलीप ने उन्हें बचाने का प्रयास किया तो उसे भी मारा-पीटा। उसके सिर, हाथ और पैर में गंभीर चोट आई है। उसके बाद आरोपितों ने लाठी-डंडे और कुल्हाड़ी से अभिजीत और उसके परिवार को मौत के घाट उतार दिया। सूचना मिलने पर शहर कोतवाल दिनेश सिंह फोर्स के साथ पहुंचे और शवों को उठवाकर जिला अस्पताल भिजवाया। रात में ही दबिश देकर पुलिस ने देवराज समेत उसके भाई शिवपूजन, बबलू और बहन को गिरफ्तार कर लिया। सभी से पूछताछ की जा रही है।

You May Also Like

error: ज्यादा चालाक मर्तबान ये बाबू कॉपी न होइए